क्या Artificial Intelligence 2025 तक इंसानों से ज्यादा होशियार हो जाएगा?

Elon Musk, जो एक जाने-माने बिजनेसमैन और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X (पहले ट्विटर) के मालिक हैं, ने हाल ही में इस बात की चर्चा छेड़ दी है कि Artificial Intelligence (AI) शायद अगले साल तक किसी भी इंसान से ज्यादा होशियार हो जाएगा.

उन्होंने एक पॉडकास्ट क्लिप शेयर की, जिसमें मशहूर भविष्यवाणी करने वाले रे Kurzweil ने इस बारे में बात की थी कि AI जल्द ही इंसानों जैसी बुद्धि हासिल कर लेगा.

मस्क, जिन्हें AI के बारे में खुलकर बोलने के लिए जाना जाता है, उन्होंने Kurzweil की भविष्यवाणी को और आगे बढ़ाते हुए कहा कि “शायद अगले साल ही कोई भी इंसान से ज्यादा अक्ल वाला AI आ जाएगा.” इतना ही नहीं, उन्होंने ये भी कहा कि 2029 तक शायद AI सभी इंसानों को मिलाकर भी ज्यादा होशियार हो जाएगा.

Kurzweil की ये बातें उनकी पिछली भविष्यवाणियों से मेल खाती हैं, जिनमें उन्होंने कहा था कि 2029 तक AI इंसानों जैसी अक्ल हासिल कर लेगा. वो ये बताते हैं कि टेक्नोलॉजी बहुत तेजी से तरक्की कर रही है, जैसा कि पिछले 80 सालों में कंप्यूटर की स्पीड बहुत ज्यादा बढ़ गई है. Kurzweil की बातों से हमें ये सोचने में मदद मिलती है कि भविष्य में AI कैसे विकसित होगा और इसका समाज पर क्या असर पड़ेगा.

आर्टिफिशियल जनरल इंटेलिजेंस (AGI) क्या है?

वो AI सिस्टम जो इंसानों से भी ज्यादा होशियार हो सकता है, उसे Artificial General Intelligence (AGI) कहा जाता है. आजकल ये शब्द technology के क्षेत्र में बहुत चर्चा का विषय बना हुआ है, खासकर के जब से ऐसे advance system आ गए हैं जैसे ChatGPT, Bing AI और Gemini.

हालांकि, ये शब्द तो बहुत प्रचलित हो गया है, लेकिन अभी भी इस बात को लेकर पूरी तरह से सहमति नहीं बन पाई है कि इसका असल मतलब क्या है.

See also  बस ये Skill आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस(AI) के दौर में सीख जाओ।

आसान भाषा में समझें तो AGI का मतलब है वो स्टेज है जब AI सिस्टम वो सब कुछ करने में सक्षम हो जाएगा जो चीजें इंसान कर सकते हैं, और यहां तक ​​कि कुछ कामों में वो हमसे भी आगे निकल सकता है.

उदाहरण के तौर पर, ये किसी भी तरह की रिसर्च कर सकता है, रिपोर्ट लिख सकता है, चित्र बना सकता है, चीजों को कोड कर सकता है (code kar sakta hai) ( चीजों को कोड करना – चीजों को प्रोग्रामिंग भाषा में लिखना).

Technology Leaders के AGI के बारे में क्या विचार हैं?

टेक्नोलॉजी लीडर्स के बीच इस बात को लेकर काफी मतभेद हैं कि AGI कब होगा या होगा भी या नहीं. कुछ लोग तो ये सोचते हैं कि शायद अगले साल ही AGI आ जाए, वहीं दूसरी तरफ कुछ लोगों का मानना है कि ये कभी भी संभव नहीं हो पाएगा.

इसके अलावा इस बात पर भी बहस होती रहती है कि AGI से फायदा होगा या नुकसान. टेक्नोलॉजी लीडर्स के विचारों को समझने से हमें ये अंदाजा लगाने में मदद मिलती है कि AGI का भविष्य में समाज पर क्या असर पड़ सकता है.

  • Sam Altman on AGI

OpenAI के संस्थापक और CEO सैम ऑल्टमैन उन लोगों में से हैं जो मानते हैं कि AGI से इंसानों को काफी फायदा हो सकता है. उन्होंने टाइम मैगजीन से बात करते हुए कहा कि “मुझे लगता है कि AGI अब तक की सबसे ज्यादा ताकतवर टेक्नोलॉजी होगी.

अगर आप अक्ल की कीमत और सभी को अक्ल मिलने के बारे में सोचते हैं, तो ये कीमत कम हो रही है और अक्ल की क्षमता काफी बढ़ रही है. ये बिलकुल नई दुनिया होगी. ये वो दुनिया है जिसका वादा हमें साइंस फिक्शन ने सालों से किया है – और पहली बार मुझे लगता है कि हम ये देखना शुरू कर सकते हैं कि ये कैसा होने वाला है.”

  • Meta के Yann LeCun
See also  Claude 2  जाने पूरी जानकारी Know About Claude 2

इस साल की शुरुआत में टाइम मैगजीन से बात करते हुए मेटा के मुख्य AI वैज्ञानिक Yann LeCun ने कहा था कि आजकल के AI चैटबॉट्स AGI की तरफ नहीं बढ़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि ये सिस्टम बहुत ज्यादा डाटा इस्तेमाल करने पर भी सीमित क्षमता के होते हैं. LeCun का कहना है कि ये सिस्टम गलत जानकारी देते हैं और असल दुनिया को नहीं समझ पाते हैं.

  • Sundar Pichai on AGI

New york Times से बात करते हुए गूगल के CEO सुंदर पिचाई ने AGI को लेकर होने वाले बहस को ही खारिज कर दिया था. उनका कहना था कि मौजूदा सिस्टम भविष्य में काफी ज्यादा सक्षम होने वाले हैं.

उनका मानना है कि ये बहस ज्यादा जरूरी नहीं है कि कब AGI आएगा क्योंकि ये सिस्टम वैसे भी इतने ज्यादा अडवांस हो जाएंगे कि वो हमारे लिए बहुत फायदेमंद भी हो सकते हैं और साथ ही साथ नुकसान भी पहुंचा सकते हैं. उदाहरण के तौर पर, ये गलत सूचना फैलाने में भी सक्षम हो सकते हैं.

Elon Musk के Tweet का असर

इलॉन मस्क के इस ट्वीट ने Artificial Intelligence के विकास की दिशा के बारे में काफी चर्चा छेड़ दी है. Kurzweil के विचारों को अपने प्लेटफॉर्म पर लाकर उन्होंने इस बहस को और हवा दी है कि AI कितनी तेजी से तरक्की कर रहा है और इससे भविष्य में क्या बदलाव आ सकते हैं. उनका ये ट्वीट टेक्नोलॉजी के विकास की रफ्तार और इसके हमारे जीवन पर पड़ने वाले संभावित प्रभावों पर गौर करने का मौका देता है.

भविष्य क्या होगा?

ये तो अभी बता पाना मुश्किल है कि AGI कब आएगा और ये समाज को कैसे प्रभावित करेगा. हालांकि, टेक्नोलॉजी लगातार तरक्की कर रही है और ये उम्मीद की जा सकती है कि आने वाले सालों में AI और भी ज्यादा एडवांस हो जाएगा. ये जरूरी है कि हम AI के विकास को सही दिशा में ले जाएं ताकि इसका फायदा उठाया जा सके और इसके संभावित नुकसान को कम किया जा सके.

इस बातचीत को आगे बढ़ाने के लिए जरूरी है कि सरकारें, टेक्नोलॉजी कंपनियां, और वैज्ञानिक मिलकर ये सुनिश्चित करें कि AI का विकास नैतिक रूप से किया जाए और इसका फायदा सभी इंसानों की भलाई के लिए किया जाए.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top